How to make a softwere engineer 2023|softwere engineer salary 2023|सॉफ्टवेर इंजीनियर कैसे बनते हे| how to become a softwere engineer |

हेलो दोस्तों स्वागत हे आपका हमारे न्यू आर्टिकल में आज के आर्टिकल में दोस्तों हम आपको बताएँगे की आप सॉफ्टवेर इंजीनियर कैसे बन सकते हो एंड सॉफ्टवेर इंजीनियर की सैलरी कितनी होती हे तो दोस्तों बने रहिये ब्लॉग में अगर दोस्तों हमारा ब्लॉग पोस्ट आपको अच्छा लगता हे तो ऐसे ही अपना सपोर्ट बनाये रखे और शेयर जरूर करे धन्यवाद |

दोस्तों वर्तमान समय में जैसे जैसे विकास हो रहा हे और साथ में तकनिकी बढ़ रही हे वैसे वैसे ही लोगो का इंटरेस्ट ऑनलाइन काम की और अग्रसर हो रहा हे | दोस्तों इंडिया में कुछ युवा ऐसे हे जिनका ड्रीम हे एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेर इंजीनियर बनना और हां दोस्तों युवाओ के साथ साथ वर्तमान समय के बच्चो में भी ऑनलाइन का का क्रेच बढ़ रहा हे अब चाहे वो कोई सा भी इंजीनियर क्यों ना हो चाहे सॉफ्टवेर इंजीनियर हो या मोबाइल इंजीनियर या फिर कम्प्यूटर इंजीनियर |

हालाँकि दोस्तों कुछ युवा साथी अभी ऐसे भी हे जिनका सपना हे की वो सॉफ्टवेर इंजीनियर बने पर असल में उनको यह भी पता नहीं की सॉफ्टवेर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना होता हे | चिंता ना करे दोस्तों अगर आपको भी इसका सही रोडमैप पता नहीं हे तो आप एकदम सही ब्लॉग पोस्ट पर आये हे |दोस्तों सबसे पहले जान लेते हे की आखिर सॉफ्टवेर क्या होता हे और वो काम क्या करता हे |

सॉफ्टवेर इंजीनियर क्या होता हे –

दोस्तों सबसे पहले हमे यह समझना होगा की असल में इंजीनियर होता क्या हे और इसका काम कितना आसान या कितना मुश्किल होता हे तो चलिए दोस्तों इसको समझते हे | तो दोस्तों सॉफ्टवेर इंजीनियर एक ऐसा व्यक्ति होता हे जो – कंप्यूटर के सॉफ्टवेर मोबाइल ऍप्स और अन्य सॉफ्टवेर डेवलप करता हे इसको हम सामान्य भाषा में सॉफ्टवेर इंजीनियर बोलते हे | एक सॉफ्टवेर इंजीनियर को मोबाइल अप्प्स कैसे बनाते हे, कम्प्यूटर के सॉफ्टवेर कैसे बनाते हे इत्यादि का ज्ञान होना चाइये | इसके साथ दोस्तों एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेर इंजीनियर बनने के लिए आपको कंप्यूटर का नॉलेज होना जरूरी हे |

कैसे बने सॉफ्टवेर इंजीनियर –

1. कंप्यूटर में बेचलर डिग्री-

दोस्तों सॉफ्टवेर इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले आपके पास कंप्यूटर की बेचलर डिग्री होना आवश्यक हे | दोस्तों आसान शब्दों में बेचलर डिग्री यानि कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग या फिर Bca , बेचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इत्यादि की आपके पास डिग्री होनी चाइये| इतना ही नहीं हे दोस्तों आपको मन लगाकर पढ़ना भी होगा तभी आप एक सफल सॉफ्टवेर इंजीनियर बन पाओगे|

प्रमुख डिग्रीयां –

  • BCA
  • बेचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
  • कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग

2. कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखना –

सॉफ्टवेर इंजीनियर बनने का दूसरा स्टेप आता हे कंप्यूटर की भाषा सीखना यानि प्रोग्रामिंग लैंगुएजेस सीखना | प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का सीखने का मेन रीज़न ये हे की यही सॉफ्टवेर इंजीनियर की जड़ ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होती हे, आप बिना प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के सॉफ्टवेर इंजीनियर कभी नहीं बन सकते हो | तो चलिए दोस्तों हम लैंग्वेज के बारे में आपको बताते हे जो आपको सीखनी अनिवार्य हे|

  • C++ लैंग्वेज
  • Java लैंग्वेज
  • पाइथन लैंग्वेज
  • C लैंग्वेज

3. प्रोग्रामिंग में लॉजिक से काम कैसे करे –

दोस्तों ये इस ब्लॉग पोस्ट का मेन ऑफ़ द पार्ट हे क्युकी जब तक आप अपने अंदर सॉफ्टवेर इंजीनियर या फिर लैंग्वेज के प्रति लॉजिक बिल्ड नहीं करोगे तब तक आपको इस काम में मजा भी नहीं आएगा और आपको सफलता भी निम्न ही मिलेगी आपको अपनी स्किल्स को इम्प्रूव करना होगा मेहनत करनी होगी तभी आप एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेरे इंजीनियर बन पाओगे अतः जो भी सीखे इंटरेस्ट के साथ सीखे और अपने अंदर लॉजिक बिल्ड करे|

अगर दोस्तों आपके अंदर लॉजिक बिल्ड की कमी हे या फिर आप लॉजिक बिल्ड करना सीखना चाहते हो तो आप कंप्यूटर साइंस या बेचलर डिग्री के साथ साथ लॉजिक बिल्डिंग का कोर्स भी कर सकते हो| दोस्तों लॉजिक बिल्डिंग वाले कोर्स में आप लॉजिक बिल्डिंग सिखने के साथ साथ अपनी स्किल्स को भी आसानी से इम्प्रूव कर पाओगे जिससे आपका कॉन्फिडेंस भी हाई लेवल का हो जायेगा जो की जब आप जॉब के लिए अप्लाई करोगे और आपका इंटरव्यू होगा तब काम आएगा| तो दोस्तों हमारा आपको यही सुझाव हे की आप लॉजिक बिल्डिंग का कोर्स अवश्य करे |

4. प्रेक्टिस करना –

लॉजिक बिल्डिंग के साथ साथ आपको प्रोजेक्ट्स पे भी ध्यान देना हे आपको प्रोजेक्ट्स बनाते रहना हे जिससे आपकी प्रेक्टिस में कोई कमी नहीं आएगी | दोस्तों जब आपकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कम्पलीट हो जाए और आपको इनका अच्छा खासा नॉलेज हो जाये तब आपको प्रोजेक्ट्स वगेरा निरंतर बनाते रहना हे इस से आपके माइंड में लॉजिक बिल्डिंग के आईडियाज़ भी आएंगे और आपकी स्किल्स भी तेजी से इम्प्रूव होगी दोस्तों ये प्रोजेक्ट्स आपके तब काम आएंगे जब आप किसी कंपनी में जॉब के लिए अप्लाई करोगे तब आप presentaion में आपके प्रोजेक्ट्स दिखा सकते हो| दोस्तों ये कुछ नियम अपनाकर आप प्रो लेवल के सॉफ्टवेर डेवलपर बन सकते हो –

  • प्रेक्टिस को प्राथमिक देना और हमेशा प्रेक्टिस करते रहना |
  • ऐसे प्रोजेक्ट्स बनाये जिसमे किसी की भी हेल्प ली हुयी ना हो |
  • लॉजिक बिल्ड करते रहना हे जो की स्किल इम्प्रूव में सहायता करेगी |
  • शुरुआती दौर में छोटे छोटे प्रोजेक्ट्स पर काम करे|
  • इंग्लिश बोलना और लिखने में इम्प्रूवमेंट लाये ताकि आपकी कम्यूनिकेश स्किल बढ़ेगी |

5. इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करे-

दोस्तों जब आपका पूरा सेटअप एक दम सही से हो जाये आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का मध्यम अनुभव हो जाए तब आप इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते हो | यानि जब आप प्रोजेक्ट करोगे उसके बाद आप इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते हो जो आपकी एक तरीके से फ्रेशर जॉब होगी जिसमे आपको काम भी करना पड़ेगा और कंपनी के द्वारा आपको सिखाया भी जायेगा | दोस्तों मजे की बात ये हे की आपको इंटर्नशिप सैलरी भी मिलेगी जो की जॉब के अकॉर्डिंग थोड़ी सी आपको कम लग सकती हे |

6. मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन –

दोस्तों अगर आपको एक प्रोफेशनल जॉब चाइये तो हमारा आपको मस्ट suggestion हे की आप पहले कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर करे | दोस्तों कुछ क्वालिटी होनी चाइये एक सॉफ्टवेर इंजीनियर में बिना नॉलेज के सॉफ्टवेर इंजीनियर को नॉलेज वाले सॉफ्टवेर इंजीनियर से बहुत ही कम सैलरी मिलती हे| अगर आप मास्टर करना चाहते हो कंप्यूटर एप्लीकेशन में तो आप – मास्टर इन कंप्यूटर साइंस (MCS) या फिर कोई अच्छे कोर्स कर सकते हो इस से आपका आगे के समय में बहुत ही ज्यादा फायदा होगा|

7. सॉफ्टवेर इंजीनियर के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  • कक्षा 10वि और 12वि सर्टिफिकेट , मार्कशीट |
  • आधार कार्ड |
  • डिग्री ऑफ़ बैचलर्स |
  • SOP और LOR |
  • गेट के अंक और TOEFL व IELTS |

8. सॉफ्टवेर इंजीनियर के लिए COLLAGE इन इंडिया –

  • अमिता विश्विधपीठ |
  • गुजरात यूनिवर्सिटी |
  • महात्मा गाँधी यूनिवर्सिटी |
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (मद्रास)|
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस |
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी |
  • बनारस की हिन्दू यूनिवर्सिटी |
  • कोलकाता यूनिवर्सिटी |
  • कोलकाता यूनिवर्सिटी |
  • होमी जहांगीर भाभा नेशनल यूनिवर्सिटी |
  • केरेला यूनिवर्सिटी |
  • मणिपाल अकेडमी ऑफ़ हाईयर इत्यादि |

9. सॉफ्टवेर इंजीनियर के लिए COLLAGE (विश्व)-

  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड |
  • कोर्नल यूनिवर्सिटी |
  • ड्यूक यूनिवर्सिटी |
  • कोलंबिया यूनिवर्सिटी |
  • जोन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी |
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ शिकागो |
  • प्रिस्टन विश्वविधालय |
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ केलिफ़ोर्निया |
  • स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी |
  • हॉवर्ड यूनिवर्सिटी |
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ बर्फल |

दोस्तों अगर आपको हमारा ब्लॉग पोस्ट जरा सा भी अच्छा लगा हो तो कृपया हमे फॉलो करे एंड कमेंट करना न भूले , अगर आपको इस ब्लॉग पोस्ट से रिलेटिव किसी भी प्रकार का डाउट हो तो कमेंट|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top