What is share market 2023 in hindi|stock market| शेयर मार्किट से पैसे कैसे कमाये 2023| शेयर मार्किट क्या होता हे | स्टॉक मार्किट से पैसे कैसे कमाए 2023 इन हिंदी |

हेलो दोस्तों कैसे हो आप हम आशा करते हे की अच्छे ही होंगे आप , दोस्तों आज हम बात करेंगे स्टॉक मार्किट के बारे में जिसको आप शेयर मार्किट भी बोल सकते हो |दोस्तों कुछ लोगो शेयर मार्किट से बहुत ही ज्यादा डर लगता हे उनको हमेशा यही डर रहता हे की शेयर मार्किट में पैसे डूबते हे हम आपको बता दे की दोस्तों ऐसा कुछ नहीं हे अगर आप सही तरीके से इन्वेस्टमेंट करते हो और guideline की पालना करते हो तो शेयर मार्किट आपको बहुत ज्यादा अमीर बना सकता हे|दोस्तों आज के ब्लॉग पोस्ट में हम बात करेंगे की कैसे आप स्टॉक मार्किट में इन्वेस्ट करके पैसे कमा सकते हो | दोस्तों इस ब्लॉग में हम बात करेंगे की कैसे आप बिना नुकसान के स्टॉक मार्किट में पेर रख सकते हो इसके साथ ही हम आपको स्टॉक मार्किट की कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स भी शेयर करेंगे|दोस्तों ब्लॉग पोस्ट काफी इंटरस्टिंग और लर्निंग का होगा तो ब्लॉग पोस्ट को पूरा पढ़े और अगर आपको हमारे आर्टिकल में कोई कमी लगे तो कमेंट के माध्यम से अवश्य बताये बिना समय व्यर्थ किये ब्लॉग पोस्ट को स्टार्ट करते हे|

1. शेयर मार्किट किसे कहते हे –

दोस्तों शेयर मार्किट की शुरुआत बहुत पहले ही हो गयी थी वर्तमान में इसकी डिमांड या पॉपुलरटी बहुत ही ज्यादा बढ़ रही हे समय के साथ साथ इसका व्यापार बढ़ता ही जा रहा हे | दोस्तों शेयर मार्किट का साधारण शब्दों होता हे – कही सारी कम्पनिया अपने शेयर को खरीदने और बेंचने का कार्य करती हे | हालाँकि दोस्तों शेयर मार्किट एक ऐसा व्यापार हे जिसमे लाभ और हानि होती रहती हे , इसमें उतार चढाव होते रहते हे इसमें कही बार तो बहुत सारे पैसे हम कमा पाते हे और कही बार थोड़ा बहुत नुक्सान या लॉस हो जाता हे| दोस्तों मुख्य रूप से इसमें हम किसी कंपनी के शेयर खरीदते हे और उस कंपनी के एक तरीके से पार्टनर बन जाते हे उसके बाद कंपनी का अगर प्रॉफिट अगर कंपनी का प्रॉफिट होता हे तो डेफिनेटली आपका भी होगा और कंपनी अगर लॉस में जाती हे तो थोड़ा बहुत आपका भी नुक्सान होगा | दोस्तों लगातर काम करने से एक एक्सपीरियंस आ जाता हे की कब लॉस हो सकता हे और कब मुनाफा जिसकी वजह से आने वाली नुकसान से बचा जा सकता हे और उसका उपाय सोचा जा सकता हे|

2. शेयर खरीदने के टिप्स –

दोस्तों अब हम जान लेते हे की हमे कब शेयर खरीदने चाइये | दोस्तों किसी भी काम को हाई लेवल तक करने के लिए उसमे महारथ हासिल करना आवश्यक हे शेयर मार्किट भी कुछ ऐसा ही हे शेयर मार्किट में टिके रहने के लिए आपको उस से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी होना आवश्यक हे|दोस्तों काम करते रहने से हमे यह पता चल जाता हे की कब कैसे कहा और किस तरीके से पैसो को सही समय पर इन्वेस्ट करना हे | दोस्तों मुद्दा यह हे की जरूरी नहीं हे की आपका बेनिफिट हो लेकिन नुक्सान से तो बचा जा सकता हे | दोस्तों हमारी तो आपसे यही राय हे की जब आप फ्यूचर में ऐसे बन जाओ की लॉस से आपको कोई फर्क ना पड़े उस टाइम ज्यादा इन्वेस्ट करे |

दोस्तों शेयर मार्किट अमीर बनाने के साथ साथ पूरा रिस्की हे यह जोखिमों से भरा पड़ा हे इसमें आपको तभी इन्वेस्टमेंट करना चाइये जब आपको लगे की हां अब करना जोखिम से दूर हे यानि जब आपकी आर्थिक स्थिति अछि हो जाये तब इसमें अपना 100% योगदान दे वो कहावत भी हेना की ” पाँव उतने हे पसारे जितनी लम्बी चादर हो ” | दोस्तों अगर आप इसमें सही guidlines को अपनाते हे और सोच समझकर इन्वेस्टमेंट करते हे तो आपके प्रॉफिट के चान्सेस ज्यादा बढ़ जायेंगे | इसके साथ ही दोस्तों जैसे जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ता जायेगा वैसे वैसे ही आप अच्छे से जाँच पड़ताल और एनालिसिस कर पाओगे की कंपनी किसी हे , इसमें इन्वेस्टमेंट करना चाइये या नहीं और कंपनी फ्रौड तो नहीं हे इत्यादि का पता लगाने की क्षमता आपके अंदर आकस्मिक विकसित हो जाएगी | दोस्तों आप जब एनालिसिस करोगे तब आप एक अछि कंपनी में इन्वेस्ट कर पाओगे जिस से आपके प्रॉफिट के चांसेस और बढ़ जायेगे |

3. शेयर मार्किट की महत्वकांक्षाए –

  • गुण – शेयर मार्किट की महत्वाकांक्षाओं के अंतर्गत हम बात करेंगे शेयर मार्किट के गुण या प्रभाव के बारे में | शेयर मार्केटिंग में किसी शेयर की प्राइस कंपनी तय करती हे उसके बाद ट्रेडिंग की जरिये उसके भाव कभी बढ़ते हे तो कभी घटते हे जो की इसक प्रभाव या गुण दर्शाता हे| दोस्तों एक कंपनी के स्टॉक की कीमत उस देश की अर्तव्यवस्था और महंगाई पर डिपेंड करती हे |
  • क्रेश – दोस्तों क्रेश का सामान्य अर्थ होता हे पैसो का नुकसान या पैसो में गिरावट | दोस्तों गिरावट के बहुत से कारण हो सकते हे जो शेयर मार्किट की महत्वकांक्षाए को सीधा प्रदर्शित करते हे | दोस्तों गिरावट का सबसे बड़ा कारण काम में ध्यान न देना और कंपनी की मायूसी होना हे |

4. शेयर मार्किट में पैसे लगाने के टिप्स –

दोस्तों शेयर मार्किट को स्टार्ट करने के लिए आप को सबसे पहले एक डीमेट अकाउंट की आवश्यकत पड़ेगी जो की आप किसी भी ब्रोकर डीलर के पास जाकर आसानी से खुलवा सकते हे| दोस्तों अब हम आपको बता देते हे की डीमैट अकाउंट कहते किसे हे – (ऐसा अकाउंट जिसमे शेयर मार्किट से कमाए हुवे पैसो को रखते हे और शेयर मार्किट के निवेश का सारा कार्य करते हे उसे ही साधारण शब्दों में डीमैट अकाउंट कहते हे) | दोस्तों अगर कंपनी को बेनिफिट मिलता हे तो जायज हे आपका भी बहुत ज्यादा बेनिफिट होगा क्युकी इस से आपके शेयर की वैल्यू बढ़ेगी जिससे आप किसी को शेयर्स को बेंचते हे तो आपका बहुत ही ज्यादा बेनिफिट होता हे | अतः डीमैट अकाउंट अवश्य खुलवाए जिसमे आप आसानी से निवेश कर पाए | दोस्तों डीमैट अकाउंट आपके सेविंग्स अकाउंट से जुड़ा हुवा रहेगा | दोस्तों डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए आपको पैन कार्ड , id प्रूफ और सेविंग्स अकाउंट की आवश्यकता होती हे |

दोस्तों अब हम बात करते हे की हमे अपना अकाउंट ब्रोकर के पास हे क्यों खुलवाना चाइये क्या इसमें कुछ प्रॉफिट मिलता हे तो इसका जवाब हे दोस्तों हां इस से आपको बहुत ज्यादा प्रॉफिट मिलता हे | दोस्तों ब्रोकर डीलर के पास डीमैट अकाउंट खुलवाने से आपको उसके द्वारा एक अच्छा सहयोग मिलेगा इसके साथ ही एक ब्रोकर डीलर आपको स्टॉक के बारे में अच्छे सुझाव देगा|

5. चार्ट लेवल किसे कहते हे –

अब हम बात करेंगे की सपोर्ट लेवल और चार्ट लेवल किसे कहते हे | दोस्तों वैसे तो सपोर्ट लेवल एक प्रकार का चार्ट ही होता हे जिसपर कुछ ट्रेडिंग और स्टॉक मार्केटिंग से सम्बंधित जानकारी लिखी हुयी होती हे | सपोर्ट या चार्ट लेवल मुख्य रूप से ट्रेडर्स के लिए काफी फायदेमंद और सहायक होती | सपोर्ट लेवल या चार्ट लेवल में प्राइस पॉइंट होते हे जिसमे शेयर खरीदने की कम से कम डिमांड की उम्मीद रखते हे | दोस्तों ज्यादातर किसी कंपनी को अगर लॉस होता हे तो फिर बाद में नेक्स्ट टाइम उसको बेनिफिट होने की सम्भावना बढ़ जाती हे |

दोस्तों अगर आपको हमारा यह – what is share market ब्लॉग पोस्ट पसंद आया हो तो हमे फॉलो करे साथ ही कमेंट के माध्यम से बताये की आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हे | दोस्तों अगर इस ब्लॉग पोस्ट में आपकी कोई कमी या कोई डाउट हे तो आप कमेंट के माध्यम से हमे पूछ सकते हे धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top